GENERAL HINDI-पर्यायवाची ( Synonyms) 1

पर्यायवाची ( Synonyms) 
जिन शब्दों के अर्थ में समानता होती है ,उन्हें समानार्थक या पर्यायवाची शब्द कहते है। हिन्दी भाषा में एक शब्द के समान अर्थ वाले कई शब्द हमें मिल जाते है,
जैसे
पहाड़ – पर्वत , अचल, भूधर ।

ये शब्द पर्यायवाची कहलाते है। इन शब्दों के अर्थ में समानता होती है,लेकिन प्रत्येक शब्द की अपनी विशेषता होती है। पर्यायवाची शब्दों का प्रयोग करते हुए विशेष सावधानी बरतनी चाहिए । कुछ पर्यायवाची शब्द यहाँ दिए जा रहे है –



अंधकार – तिमिर ,
अँधेरा ,
तम।  

आग– अग्नि,अनल,पावक ,दहन,ज्वलन,धूमकेतु,कृशानु ।
अच्छा – उचित ,
शोभन ,
उपयुक्त ,
शुभ ,
सौम्य।  

अजेय – अजित ,
अपराजित ,
अपराजेय।  

अतिथि – पाहून,
आंगतुक ,
अभ्यागत ,
मेहमान।  

अनुचर – नौकर ,
दास ,
सेवक ,
परिचारक।  

अनुपम – अनूठा ,
अनोखा ,
अपूर्व ,
निराला ,
अभूतपूर्व।  

अन्य – पृथक ,
और ,
भिन्न ,दूसरा।  

अनाज – शस्य ,
अन्न ,
धान्य।  

अरण्य – विपिन ,
वन ,
कानन ,
कान्तार ,
जंगल।  

आभूषण – विभूषण ,
भूषण ,
गहना ,
अलंकार।  

आज्ञा – हुक्म ,
आदेश ,
निर्देश।

अमृत-सुधा,अमिय,पियूष,सोम,मधु,अमी।
असुर-दैत्य,दानव,राक्षस,निशाचर,रजनीचर,दनुज।
अश्व – वाजि,घोडा,घोटक,रविपुत्र ,हय,तुरंग .
आम-रसाल,आम्र,सौरभ,मादक,अमृतफल,सहुकार ।
अंहकार – गर्व,अभिमान,दर्प,मद,घमंड।
आँख – लोचन, नयन, नेत्र, चक्षु, दृग, विलोचन, दृष्टि।
आकाश – नभ,गगन,अम्बर,व्योम, अनन्त ,आसमान।
आनंद – हर्ष,सुख,आमोद,मोद,प्रमोद,उल्लास।
आश्रम – कुटी ,विहार,मठ,संघ,अखाडा।
आंसू – नेत्रजल,नयनजल,चक्षुजल,अश्रु ।
इंद्र – देवराज,सुरेन्द्र ,सुरपति ,अमरेश ,देवेन्द्र ,वासव ,सुरराज ,सुरेश . 
इन्द्राणी
– इंद्रवधु,शची,पुलोमजा .

ईश्वर– भगवान,परमेश्वर,जगदीश्वर ,विधाता।
इच्छा – अभिलाषा,चाह,कामना,लालसा,मनोरथ,आकांक्षा ।
उन्नति – प्रगति ,
विकास ,
उत्कर्ष ,
अभ्युदय ,
उत्थान ,
वृद्धि।  

उत्साह – आवेग ,
जोश ,
उमंग।  

उद्यान – बाग़ ,
कुसुमाकर ,
वाटिका ,
उपवन ,
बगीचा।

ओंठ -ओष्ठ,अधर,होठ।
कमल-पद्म,पंकज,नीरज,सरोज,जलज,जलजात ।
कल – सुन्दर ,
अगला दिन ,
मशीन ,
आराम ,
श्रेष्ठ।  

कपड़ा – चीर ,
,पट ,
वसन ,
अम्बर ,
वस्त्र।  

कनक – गेंहू का आटा ,
स्वर्ण ,
धतूरा ,
सोना।  

कृषक – हलवाहा ,
किसान ,
कृषिजीवी ,
खेतिहर।  

कान – श्रवण ,
श्रुतिपट ,
कर्ण ,
श्र्वानेंद्रिय।  

कोमल – नाजुक ,
नरम ,
मृदु ,
सुकुमार ,
मुलायम।  

कोष – भंडार ,
ख़जाना ,
निधि।  

कोयल – वनप्रिय ,
पिक ,
कोकिला ,
काक्पाली ,
वसंतदूत।  

किरण – मरीचि ,
कर ,
अंशु ,
रश्मि ,
मयूख।  

किनारा – कगार ,
कूल ,
तट ,
तीर।  

कृपा – प्रसाद,करुणा,दया,अनुग्रह।
खल – अधम , दुर्जन , दुष्ट , कुटिल , नीच।
गाय– गौ,धेनु,सुरभि,भद्रा ,रोहिणी।
गधा – गर्दभ ,खर,धूसर ,शीतलावाहन,चक्रीवान.  
चरण -पद,पग,पाँव, पैर ।
चातक – सारन,मेघजीवन ,पपीहा ,स्वातीभक्त .
किताब -पोथी ,ग्रन्थ ,पुस्तक ।
कपड़ा -चीर,वसन, पट ,वस्त्र ,अम्बर ,परिधान ।
कामदेव – मन्मथ ,मनोज,काम,मार ,कंदर्प,अनंग ,मनसिज ,रतिनाथ ,मीनकेतू.
कुबेर – किन्नरपति , किन्नरनरेश ,यक्षराज ,धनाधिप ,धनराज ,धनेश .
किरण -ज्योति, प्रभा,रश्मि, दीप्ति, मरीचि ।


किसान
– कृषक
,भूमिपुत्र
,हलधर
,खेतिहर
,अन्नदाता ।

कृष्ण – राधापति ,घनश्याम ,वासुदेव , माधव, मोहन ,केशव ,गोविन्द ,गिरधारी ।
कान – कर्ण ,श्रुति ,श्रुतिपटल ।
कल्पवृक्ष
– कल्पतरु ,देवतरु,कल्पलता ,देववृक्ष ,पारिजात .

गंगा – देवनदी ,मंदाकनी,भगीरथी ,विश्नुपगा, देवपगा ,ध्रुवनंदा ।
गणेश – गजानन , गौरीनंदन , गणपति , गणनायक , शंकरसुवन ,लम्बोदर ,महाकाय।
कोयल – कोकिला , पिक , काकपाली, बसंतदूत । 
क्रोध – रोष , कोप , अमर्ष , कोह , प्रतिघात ।
गज – हाथी , हस्ती , मतंग , कूम्भा, मदकल ।
गुरु – शिक्षक ,
बड़ा ,
भारी ,
वृहस्पति . 

ग्रीष्म – ताप ,
घाम ,
निदाघ ,
गर्मी .

गृह – घर , सदन , गेह ,भवन, धाम , निकेतन ,निवास ।
चंद्रमा
– चन्द्र ,
शशि ,
हिमकर ,
राकेश ,
रजनीश ,
निशानाथ ,
सोम ,
मयंक ,
सारंग ,
सुधाकर ,
कलानिधि ।

चतुर – चालाक ,
कुशल ,
पटु ,
नागर ,
दक्ष ,प्रवीण .

जल – वारि , नीर , तीय ,अम्बु , उदक , पानी ,जीवन , पय, पेय ।
जहाज – पोत ,
जलयान .

जंगल – विपिन , कानन , वन, अरण्य, गहन ।
जमुना
सूर्यसुता ,कृष्णा, अर्कजा ,रवितनया ,कालिंदी . 

जीभ – रसना ,वाणी ,गिरा ,रसज्ञा. 
झंडा – फरहरा ,
ध्वज ,
पताका ,
निशान . 

झरना – प्रताप ,
उत्स ,
निर्झर ,
सोता ,
श्रोत .

झूठ – असत्य , मिथ्या, मृषा, अनृत ।
तन –  काया ,
तनु ,
 शरीर ,
देह ,
कलेवर . 

तरु – विटप, पादप , पेड़ ,द्रुम, वृक्ष . 
तात – परम , प्यारा , पूज्य , पिता .
तालाब – सरोवर , जलाशय , सर, पुष्कर , पोखरा, जलवान , सरसी ।
तलवार – असि,करवाल ,कृपाण,खडग ,शायक,चंद्रहास . 
तीर – वाण,सर ,नाराच ,विहंग शिलिमुख . 
तोता – सुग्गा ,शुक ,सुआ,कीर ,दाड़िमप्रिय .
दास– सेवक , नौकर , चाकर , परिचारक , अनुचर ।
दरिद्र – निर्धन , गरीब , रंक , कंगाल , दीन। 
दिन – दिवस, याम , दिवा, वार, प्रमान।
दुःख – पीड़ा ,कष्ट , व्यथा , वेदना , संताप , शोक , खेद , पीर, लेश ।
दूध – दुग्ध , क्षीर , पय ।
दुष्ट– पापी , नीच , दुर्जन , अधम , खल , पामर ।
दर्पण – शीशा , आरसी , आईना , मुकुर ।
दांत – दन्त ,दसन ,रद .
दुर्गा – चंडिका , भवानी , कुमारी , कल्याणी , महागौरी , कालिका , शिवा ।
देवता – सुर, देव, अमर , वसु , आदित्य , लेख ।
धनुष – धनुही ,धनु ,सारंग ,चाप ,शरासन .
धन – दौलत , संपत्ति , सम्पदा, वित्त ।
धरती – पृथ्वी , भू, भूमि , धरणी, वसुंधरा , अचला , मही, रत्नवती , रत्नगर्भा ।
ध्वनि – स्वर ,आवाज ,आहट .
नदी – सरिता , तटीना , सरि, सारंग , जयमाला ।
नया – नूतन , नव, नवीन , नव्य।
नरक – यमलोक ,यमालय ,दुर्गति ,कुम्भीपाक . 
नित्य – सदा ,सर्वदा ,सतत ,निरंतर . 
निरादर – अपमान ,उपेक्षा ,अवहेलना ,तिरस्कार ,अवज्ञा . 
नाव
नौका ,बेडा , तरणी,जलयान ,जलवाहन. 

पवन – वायु , हवा, समीर , वात , मारुत , अनिल, पवमान ।
पहाड़ – पर्वत , गिरी , अचल , नग, भूधर , महीधर ।
पक्षी – खग, चिडिया , गगनचर , पखेरू , विहंग , नभचर ।
पानी – जल ,नीर ,वारि ,सलिल ,अंबु. 
पार्वती – उमा,गिरिजा ,गौरी ,शिवा ,भवानी ,अम्बिका .
पति – स्वामी , प्राणाधार , प्राणप्रिय, प्राणेश, आर्यपुत्र।
पत्नी – गृहणी , बहु , वनिता , दारा, जोरू ,वामांगिनी ।
पुत्र – बेटा , आत्मज, वत्स , तनुज , तनय, नंदन ।
पुत्री – बेटी, आत्मजा , तनूजा, सुता , तनया ।
पुष्प – फूल , सुमन , कुसुम , मंजरी , प्रसून ।
पृथ्वी – धरती ,धरा ,भू ,भूमि ,जमीन,वसुंधरा ,धरणी .
बादल – मेघ, घन , जलधर , जलद, वारिद, नीरद , सारंग ।
बालू – रेत , बालुका , सैकत ।
बन्दर – वानर , कपि, कपीश, हरि।
बिजली – घनप्रिया , इन्द्र्वज्र, चपला , दामिनी , ताडित, विद्युत ।
ब्रह्मा
– अज ,विधि ,विधाता ,प्रजापति ,निर्माता ,धाता ,चतुरानन ,प्रजाधिप . 

बाण – तीर ,शर ,सायक ,शिलीमुख .
विष – जहर , हलाहल , गरल , कालकूट ।
वृक्ष – पेड़ , पादप , विटप , तरु , गाछ ।
विष्णु – नारायण , दामोदर , पीताम्बर , चक्रपाणी ।
भूषण – जेवर , गहना, आभूषण , अलंकार ।
भौरा – भ्रमण ,भँवरा,भृंग ,मिलिंद ,सारंग ,मधुप . 
महेश – महादेव ,नीलकंठ ,चंद्रशेखर ,गंगाधर ,रूद्र ,शिव ,विश्वनाथ .
मनुष्य – आदमी , नर, मानव, मानुष , मनुज ।
मदिरा– शराब , हाला, आसव, मधु, मद।
मोर– केक , कलापी, नीलकंठ , नर्तकप्रिय ।
मधु – शहद , रसा, शहद, कुसुमासव ।
मृग – हिरण, सारंग , कृष्णसार।
मछली – मीन , मत्स्य , जलजीवन , शफरी , मकर ।
मूर्ख – गँवार,अल्पमति ,अज्ञानी ,अपढ़ ,जड़ . 
मृत्यु – देहांत ,मौत , अंत ,स्वर्गवास ,मरण . 
मोक्ष
मुक्ति ,परधाम ,निर्वाण , परमपद ,अपवर्ग . 

यमराज – धर्मराज ,यम ,अन्तक ,सूर्यपुत्र, दंडधर .
रात – रात्रि, रैन , रजनी , निशा , यामिनी , तमी, निशि , यामा।
राजा – नृप, भूप, भूपाल , नरेश , महीपति , अवनीपति ।
लक्ष्मी
– कमला ,
पद्मा ,
रमा,
हरिप्रिया ,
श्री ,
इंदिरा ।

विवाह – शादी ,गठबंधन ,परिणय ,व्याह ,पाणिग्रहण . 
समूह – गण,झुण्ड ,संघ ,वृन्द ,समुदाय . 
वायु – पवन ,अनिल ,समीर, हवा ,वात . 
वस्त्र – कपडा , वसन ,अम्बर ,परिधान ,पट . 
विष – जहर ,हलाहल ,माहुर ,गरल ,कालकूट .
साँप – सर्प , नाग , विषधर , उरग , पवनासन।
शिव – भोलेनाथ ,शम्भू, त्रिलोचन , महादेव, नीलकंठ , शंकर।
सूर्य – रवि , सूरज , दिनकर, प्रभाकर, आदीत्य, भास्कर , दिवाकर।
संसार– जग, विश्व , जगत , लोक , दुनिया ।
शरीर – देह , तनु , काया , कलेवर , अंग , गात ।
सोना – स्वर्ण , कंचन, कनक , हेम , कुंदन ।
स्त्री – अबला ,नारी ,महिला ,रमणी ,दारा,कान्ता.
सिंह – केशरी, शेर, महावीर, नाहर, सारंग , मृगराज ।
सेना – वाहिनी ,कटक ,चमू .
समुद्र – सागर, पयोधि, उदधि , पारावार, नदीश ,जलधि ।
हनुमान – महावीर ,पवनसुत ,रामदूत ,मारुती ,कपीश ,बजरंगबली . 
हर्ष – आनंद ,प्रसन्नता ,प्रमोद ,सुख ,आमोद . 
हाथी – गज ,सिंघु ,हस्ती ,नाग ,मतंग,गजेन्द्र .
शत्रु – रिपु , दुश्मन , अमित्र , वैरी ।
हिमालय – हिमगिरी , हिमाचल , गिरिराज , पर्वतराज , नगेश।
ह्रदय – छाती , वक्ष , वक्षस्थल , हिय , उर ।
TO DOWNLOAD PDF CLICK HERE 


bsnl tta (je) answer keys and BSNL ONLINE EXAMINATION QUERIES PROFORMA
Geography-Important Sea Ports of India

Leave a Reply